कोरोना वायरस (Coronavirus) की उत्पत्ति कहाँ से हुई? | चाइना का Bio Weapon | Coronavirus पर Essay, निबंध

कोरोना वायरस (Coronavirus) की सच्चाई क्य़ा है?

Coronavirus ki photo

आज इस ब्लॉग में आप जानेंगे कि चाइना किस तरह Coronavirus पर रिसर्च करके उसके जीन में परिवर्तन कर उसकी शक्ति को और बढ़ा दिया है।  एक रिपोर्ट के मुताबिक Coronavirus तो 2013 में ही चाइना को मिल गई थी, और तब से चाइना उस पर रिसर्च कर रही है। और उसके RNA में बदलाव करके उसको मौसम के अनुकूल जिन्दा रहे, और बेहतर ढंग से अपनी वंश को बढ़ा पाए इस पर कई सालो से रिसर्च कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक चाइना के पास Coronavirus के ऐसे कई अलग अलग वैरिएंट अभी भी मौजूद है। तो शुरू से जानेंगे कि Coronavirus की उत्पत्ति और खोज किस प्रकार हुई थी। 

चाइना की करतूत आज नहीं तो कल सामने आयेगी ही, एक न दिन सबको चाइना की असलियत का पता चेलगा ही, इसका भरपाई चाइना किस प्रकार करेगी? ये तो पता नहीं लेकिन उसके साथ क्या किया जायेगा ये भी नहीं पता ये तो समय आने पर पता चलेगा।  Coronavirus एक चाइनीज bio weapon ही है जिसे चाइना टेस्ट के तौर के पे 2019 के नवम्बर – दिसम्बर में किसी खास मकसद के तहत ही Coronavirus को full Plan के साथ फैलाया है। मई – जून 2019 के आसपास जब अमेरिका का राष्ट्रपति डोनल ट्रम्प थे तब अमेरिका और चाइना की आपस कि रिश्ते ठीक नहीं थे।

किसी विवाद को लेकर चाइना और अमेरिका का मदभेद हो रहा था बात लड़ने तक की नौबत तक आ गई थी। कोरोना वायरस की सच्चाई क्य़ा है? लगभग इन्सान को इसके बारे में सही से पता ही नहीं है, लोग बस इससे बचने के उपाय ढूँढ रहे हैं। और हर विकसित देश इस बार काबू पाने के नए नए तरीके ढूँढ रहे हैं, वैक्सीन कितना कारगर होगा ये कहना मुश्किल होगा? क्योंकि वैक्सीन आखिर कब तक हमारे शरीर में Antibodies बनाती रहेगी। 

और करीब जनवरी – फ़रवरी 2021 के आसपास Coronavirus की वैक्सीन बन के तैयार हुई , लेकिन इसके पीछे सच्चाई क्या है? Coronavirus इतना जल्दी कैसे फ़ैल गया? अमेरिका और भारत में ही सबसे ज्यादा Coronavirus का असर क्यों दिखायहीं पर ज्यादा मरीज क्यों है? आखिर इसके पीछे वजह क्या है? आज की तारीख में कोरोना का दूसरा लहर चल रहा हैं, लेकिन जहाँ चलना चाहिए था। वहां तो कुछ और ही चल रहा हैं, आज चाइना धड़ल्ले से अपना हर तरह का व्यपार का विस्तार करता जा रहा है।

जब ये कोरोना वायरस आया तो किसी ने ध्यान ही नहीं दिया और ये फैलता चला गया, किसी को पता नहीं था की ये क्या है कैसे फैलता है? या फिर इस वायरस को जानबूझ कर फैलाया गया है। अभी तक किसी को  समझ में नहीं आ रहा है, लेकिन अब समझ में आ गया है ये सब चाइना की एक सोची समझी चाल थी। अपना वर्चस्व अपना शक्ति कायम करने का यह एक नया तरीका इजात किया है, जिसे जैव हथियार (Bio Weapon ) कहते हैं।  इस पे लगभग कई देश अपने अपने तरीके से काम कर रहा है लेकिन चाइना बहुत पहले से काम कर रहा था और सफलता भी हासिल की।

सबसे पहले देखा जाये तो कोरोनावायरस का ही एक वैरिएंट सार्स जो साल 2002 – 03 में चाइना में ही चमगादड़ों से ही फैला था, जिससे चाइना में कई हजार लोग मारे गए। Coronavirus को किस तरह फैलाया जाये, मौसम कैसा रहेगा? हवा की रफ़्तार कितनी होनी चाहिए ? गर्मीकी डिग्री कितनी होनी चाहिए? इसे किस किस माध्यम से फैलाना सबसे आसान होगा। इस वायरस से चाइना तो प्रभावित हुआ ही था लेकिन बहुत जल्द इन लोगों ने न जाने किस तरह अपने देश में कोरोना को कण्ट्रोल कर लिया आज ये एक बड़ा सवाल है और होना भी चाहिए। हो सकता है इसके साथ WHO मिला हुआ हो उसे सब पता हो?

WHO को पूरा अधिकार है ऐसे मामले में जाँच पड़ताल करने का वो एकदम पुरे आजादी के साथ, लेकिन WHO ने उसके साथ वैसा कुछ भी नही किया। मानो लगता है चाइना वालो ने कुछ किया ही नही हो, लेकिन ये करतूत चाइना वालो की है। इसके बहुत से कारण है जो लोगो को सफा दिख रहा है, इन्सान इतना बेवकूफ़ कैसे हो सकता है। इन्होने बाकि देशो को तो अपने प्लान के मुताबिक संक्रमण फैला ही दिया है, और आज भी कई देश इससे जूझ रहें हैं, जिसमे से आज भारत सबसे आगे चल रहा है।

चाइना का प्रयोग तों successful रहा, चाइना को इससे कुछ फर्क नहीं पड़ता क्यूँकी इसके पास हर मर्ज़ की दवा है, वायरस बनाने से पहले हर वायरस का वैक्सीन बन जाती है। चाइना ने कोरोनावायरस इस तरह से फैलाया है कि किसी को शक ही ना हो। जिसके जरिए ये सब हासिल करना चाहता है। बात करे चाइना की तो इसके हालात अभी बहुत ठीक हो चुकी है। इन्होंने तो अपने यहाँ 6 से 8 महीने में ही कोरोना पर काबू पा लिया और 8 महीने के बाद ही कितनो ही जगहों पर इसका फैक्ट्री चालू भी हो गई है। और बड़ी मात्रा में उत्पादन शुरू भी कर दिया, इन लोगों का सारा इंडस्ट्रियल काम जोर शोर से चल रहा है।

कोरोना वायरस की शुरुआत 

Advertisement

बात है साल 2019 दिसंबर की जब Coronavirus धीरे धीरे पूरी दुनिया में फैलना शुरू हुआ था, Coronavirus की शुरुआत चाइना की हुबई शहर के वुहान प्रांत से हुई थी। चाइना में एक ऐसा बाजार हैं जहाँ जिंदा और मुर्दा दोनों ही प्रकार के कई तरह के जानवरों का खरीद बिक्री होती है, वहां से ये वायरस फैलने की बात की जा रही। ऐसा चाइना वाले कहते हैं, लेकिन ये कहाँ तक सच है कुछ कहा नही जा सकता है,कहीं न कहीं चाइना सच छुपाने कोई कोशिश कर रहा है। और उसने ये वायरस जान बूझकर कर लगभग हर जगह फैलाया और इन्होंने किस तरह फैलाया ये अभी रहस्य ही बना हुआ है।

सबसे ज्यादा केस उस वक्त अमेरिका में था और अभी भी नए केस आ रहे है, चाइना से अमेरिका और भारत दोनों से ही अच्छे रिश्ते नहीं है। हमेशा से 36 का आंकड़ा चलता आ रहा है और अभी भी चल ही रही है। Coronavirus के प्रभाव से चाइना में कुछ दिनों की स्थिति खराब जरूर हुई थी, लेकिन चाइना बहुत ही कम समय में अपने देश में फैले वायरस को बहुत ही बेहतर ढंग से मात्र कुछ ही महीनो में रिकवर कर लिया था। lockdown तो चाइना में भी लगा था और बाकि के देशो में भी लगाया गया था, लेकिन बावजूद इसके बाकि देशों में Coronavirus बहुत तेजी से फैला आखिर इसके पीछे वजह क्या रही होगी?

इससे पहले भी साल 2002 के आसपास चाइना में सार्स वायरस (Sars virus) आया था जिससे चाइना में करीब हज़ारों लोगो की जाने गई थी। इस समय भी इन लोगों का कहना था कि Coronavirus की उत्पति चमगादड़ों से हुई यानी कि पहले चमगादड़ से जानवरों में आई और चाइना में लगभग सौ से ऊपर ऐसे जानवर जिसे चाइना वाले ज़िन्दा, कच्चा अधजला, अध पक्का जानवर खाते जिसमें चमगादड़ का सूप भी शामिल है, कुत्ते, सूअर खरगोश, लोमड़ी, मगरमच्छ, भेड़िया, सलामैंडर, सांप, चूहे, मोर, साही, ऊंट, ऐसे और कई जानवर जिसका नाम तो बहुत से लोग भी नहीं जानते हैं और ना ही हम।

ये जो मार्केट चाइना में चल रही है जहाँ ज़िन्दा जानवरों को खरीदा बेचा जाता है ये कई वर्षो से चल रही है। चाइना में इसे लीगल माना जाता है, जब Coronavirus वायरस फैलना शुरू हुई थी तब भी इस बाज़ार को बंद नहीं करायी गयी थी। इसके बावजूद ये चलता रहा और करीब तीन महीनों में 34000 हजार लोगों की जाने गई थी, सिर्फ दिसंबर 2019 से 31 मार्च 2020 तक का और अभी ये फैलता जा रहा इतना तेजी से की मानो इसको इसी के लिए ही बनाया गया हो इतने तेजी से फैलने के लिए। 

एक तरह से देखा जाए तो Coronavirus इतने जल्दी से फैल रही हैं एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में, मुझे तो विश्वाश ही नहीं हुआ था कि ये इतने जल्दी इतना कम समय में कैसे फ़ैल सकती है। और दुसरो को भी संक्रमित करती हैं और कुछ ही वक्त में संक्रमित व्यक्ति की मौत भी हो जाती है। अधिकतर वही लोग मरते है जिसको पहले से ही किसी प्रकार की बीमारी हो। उस व्यक्ति पे Coronavirus बहुत तेजी स हावी होता है, और उसकी मृत्यु भीबहुत कम समय में हो जाती है।

Coronavirus जिसका इम्युनिटी सिस्टम यानि प्रतिरक्षा तंत्र बहुत ही कमजोर होता है उस पर भी बहुत जल्द हावी हो जाता है। बहुत से वैज्ञानिको ने मिलकर कई रिपोर्ट तैयार की है जिसमे Coronavirus का इजात चाइना पर ही लगा रहे हैं। और बहुत से खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक चाइना Coronavirus पर 2015 से ही रिसर्च कर है, और मौका मिलते ही इसका प्रयोग चाइना ने कर दिया। चाइना के खिलाफ पुख्ता सबूत न होने की वजह से फ़िलहाल चाइना बचा हुआ है, चाइना और भी बहुत से चीजो पर प्रयोग कर रहा है जिसमे इन्सान के DNA भी शामिल है। 

चाइना इंसानी DNA को एडिट करके उसमे कुछ जोड़ कर या फिर उससे निकालकर उसमे परिवर्तन कर कुछ अलग ही इन्सान बनाने की तैयारी में लगा हुआ है। चाइना पर कई देशो के बच्चो का DNA चोरी का भी इल्जाम है जिसमे से भारत का भी नाम शामिल है। 

एक नजर गर शुरुआत के कोरोना की पुरानी रिपोर्ट पर भी डाले तो आपको एहसास हो जायेगा चाइना में Coronavirus के कितने कम मरीज संक्रमित हुए। और तो और बहुत ही कम लोग इस वायरस से चाइना में मारे गए ये बहुत ही हैरत की बात है हो सकता है ये चीज भी हम लोगो से ही सिखा होगा। कि कुछ ऐसा होना चाहिए जिससे किसी देश को शक भी न हो इसलिए अपने लोगो को भी संक्रमित कर दिया ये उसकी एक सोची समझी चाल हो सकती है। 

Coronavirus se प्रभावित देश और आंकड़े (30 मार्च 2020 तक का रिपोर्ट)

सबसे पहले चाइना का ही रिपोर्ट देखते हैं

  • China Confirmed — 90,000 
  • Death – 3,186- 4000 +
  • Recovered – 85,000+
  • active – 00 

चाइना में इतना सुधार हो चुका है कि लगता ही नहीं की वहां पे कभी कोई वायरस से संक्रमित हुआ भी था। वहां काफी बदलाव आ चुका है और बहुत सारे औद्दौगिक का काम तो कब का शुरू भी हो गया था। वहां की सरकार को देखकर लगता ही नहीं कि उसे किसी से भी डर लगता है एकदम सामान्य दिख रहे थे। एक तरफ देखा जाए तो बीजिंग और शंघाई चीन के बड़े ही औद्योगिक क्षेत्र हैं लेकिन इस पर किसी भी तरह का कोरोनावायरस का संक्रमण का प्रभाव पड़ा ऐसा महसूस तक नहीं होता है किसी को।  कोई बड़ा उद्योगपति या कोई बड़ा सेलिब्रिटी इससे संक्रमित हुआ है लेकिन इस शहर को कुछ हुआ ही नहीं था। 

इसमें शिकार सिर्फ़ बड़े देश यानि की जी अमीर देश हैं लभभग वहीं हुए हैं क्यूंकि उनके पास बहुत पैसा है। ये एक सोची समझी चाल थी वायरस फैलाने की जिससे कई देश शिकार भी हुए, और संक्रमित की संख्या हर दिन बढ़ती ही जा रही है रुकने का नाम नहीं ले रही है। 

  • Itly Confirmed – 97,689
  • Death – 10,779
  • Recovered – 13030
  • active – 73,880  

बात करेगी इटली देश की तो इटली हेल्थ के मामले में बाकि देशो से बिलकुल आगे है, लेकिन इसके बावजूद Coronavirus के सामने पस्त हो गया था।कुछ नहीं कर पा रहे हैं वहां की सरकार दिन पर दिन मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही थी हर दिन संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही थी। ये संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक बड़े आसानी से पहुंच जाती है, यह जो वायरस है ठंडे मौसम में बड़े आसानी से जीवित रह जाते हैं जो कि इटली के वातावरण के अनुकूल है ज्यादा वातावरण ठंडी है वहां पर आसानी से फैल जाती है।

  • Spain
  • Confirmed – 80,110
  • Death – 6,803
  • Recovered – 14,709
  • active – 58,598
  • America
  • Confirmed – 1,64,603
  • Death –  3,017
  • Recovered – 
  • active – 
  • Iran Confirmed – 41,495
  • Death – 2,757
  • Recovered – 13,981
  • active – 24,827  
  • France
  • Confirmed – 40,174
  • Death – 2,696
  • Recovered – 7,202
  • active – 30,366
  • Germany
  • Confirmed – 62,435
  • Death – 5,41
  • Recovered – 9,211
  • active – 52683
  • India
  • Confirmed – 1,071
  • Death – 29
  • Recovered – 100
  • active – 9,42

बात गर भारत कि करे तो जितने भी संक्रमित लोग पाए गए हैं लभभग सभी बाहर से आए हुए यानि की जितने भी लोग बाहर कमाने के लिए गए हुए थे। और जैसे जैसे लोग Coronavirus के खतरे से वापस अपने अपने घर लौटे साथ में बहुत से लोग कोरोनावायरस भी साथ ले के चले गए थे और जहाँ नहीं फैलना था वहां भी कोरोना फ़ैल गया, ये सारे रिकॉर्ड मार्च 2020 के आसपास की है। 

  • Pakistan
  • Confirmed – 1,626
  • Death – 18
  • Recovered – 29
  • active – 1,578

तो बात करें पाकिस्तान की है तो उसकी भी हालत ऐसी है कि वह खुद को इस वायरस नहीं बचा सकता इसलिए पाकिस्तान सरकार और वहां का सैन्य जनरल ने मिलकर चाइना सरकार से हाथ मिलाया हैं। और चाइना सरकार ने भी मदद करने का वादा किया है, चाइना सरकार ने कहा सबसे पहले वह अपना सीमा खोलें उस रास्ते चाइना सरकार ने सैनिटाइजर और मास्क जैसी चीजों का भिजवाने का वादा किया है और और अपने कुछ डॉक्टरों को भी वहां के मरीजों की देखरेख के लिए भेज चुकी थी ऐसी हालत है पाकिस्तान की। वहां के संक्रमित व्यक्तियों को तम्बू में ठहराया जा रहा था।

COVID – 19 ka full form

  • Co – Coronavirus 
  • Vi – Virus 
  • D – disease 
  • 19 – 2019 साल दिसंबर
0 0 votes
Article Rating
0 0 votes
Article Rating

Leave a Reply

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments