Gulzar quotes in hindi | Gulzar shayari in hindi 2 lines | Gulzar shayari in hindi on life | गुलज़ार शायरी

Gulzar quotes in hindi : गुलज़ार शायरी

आप सामने हों और हम
हद में रहें
मोहब्बत में कोई इतना भी
अब शरीफ नहीं रहे

💠

खुदा से मौत मांग लेना
पर इंसान से मोहब्बत नहीं

💠

उसने कहा बदनाम हूँ मैं
मैंने कहा काबुल हैं

💠

अपने जिस्म की तलब तो
मिटा ली तुमने
मेरी रूह की ख्वाइशों का
क्या करूँ मै

💠

इश्क है तुमसे है
और कबूल है
कहो तो इजहार कर दूँ
💠

उतार फेंक दी उसने तोहफे
में मिली पायल
उसे दर था छनकेगी तो
याद अ जाऊंगा मैं
💠

उसका वादा भी अजीब था
कि जिंदगी भर साथ निभाएंगे
मैंने भी ये नहीं पुछा कि
मोहब्बत के साथ या यादों के साथ
💠

बहुत करीब से अनजान बनके
गुजरा है वो शख्स
जो कभी बहुत दूर से
पहचान लिया करता था
💠

रोते रहें हम रात भर पर
फैसला न कर सके,
तू याद आ रही है या
मैं याद कर रहा हूँ
💠

कहना हो या मोहब्बत
अगर किसी को
ज्यादा दे दो तो वो
अधूरा छोड़ का चला जाता है
💠

एक अच्छा दोस्त
एक अच्छी किताब
एक अच्छी सोच
ये तीन चीज इन्सान की
जिंदगी बदल देती है

💠
जब तक आये नींद
जी भर के सो लो
सुना है जिम्मेदारियां
नींदे उड़ा देती है

💠

हमेशा से तो नहीं रहा होगा
तू भी सख्त दिल
तेरी भी मासूमियत से भी
किसी ने खेला होगा
💠

नफरत सी हो गई थी
मुझे मोहब्बत से
और फिर एक दिन में
तुमसे मिला

💠

बाप के कपड़े उतर गए
बेटी को कपड़े पहनने में
बेटी ने कपड़े उतार दिए
अपने बॉयफ्रेंड को मानाने में
💠

पूरा दिन गुजर गया और
आपने याद तक नहीं किया
मुझे नहीं पता था कि
इश्क में भी इतवार होता है
💠

प्रेम के बस में सब है
बस सब के बस में प्रेम नहीं
💠

जिंदगी का सफर अक्सर ऐसा ही होता है
पसंद कोई aउर किस्मत में कोई और
बाते किसी और से और दिल में
कोई और होता है
💠

प्यार होना बड़ी बात नहीं है
उस प्यार को पूरी जिंदगी
निभाना बड़ू बात है
💠

परेशान करता था न
मेरा बोलना तुम्हें
तो अब बताओ
पसंद आई मेरी खामोशी
💠

हुआ कुछ नहीं बस
वह चुप है और मै उदास हूँ

💠

किसी के पास रहना हो
तो थोड़ा दूर रहना चाहिए
💠

सब कहते है खुस हूँ मैन
मेरा दिखावा भी कमाल का है
💠

जो हम रूठ जाएँ
तो हमें मनाए कौन
बस इसी फ़िक्र में
खुश रह लेते है
💠

इतना ही करीब था मैं
तो बताया क्यों नहीं
प्यार तुमको भी था अगर
तो जताया क्यों नहीं
💠

प्यार निभाने आना चाहिए जनाब
हो तो सबको जाता है
💠

गुजर गया आज का दिन भी
पहले की तरह
न हमें फुर्सत मिली
न उन्हें ख्याल आया
💠

बहुत देखा हूँ जिंदगी में समझदार बनकर
लेकिन ख़ुशी हमेशा पागल बनकर ही मिलती है
💠

तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा तो नहीं
तेरे बिना जिंदगी भी लेकिन जिंदगी तो नहीं

💠

रिश्ते जब मजबूत होते हैं
बिन कहे महसूस होते हैं
💠

मेरा और उनका कुछ ऐसा किस्सा है
की मेरी जिंदगी का वो बेहद खुबसूरत हिस्सा है
अब टूट गया दिल तो बवाल क्या करे
खुद ही किया था पसंद अब सवाल क्या करे
💠

बेशक दोस्त कमीने है पर सब साले
जिगर के टुकड़े है
💠

किसी की आदत हो जाना
मोहब्बत से भी ज्यादा खतरनाक है
💠

तुम इश्क कारो और दर्द न हो
मतलब दिसम्बर की रात हो और सर्द न हो
💠

रूठना तेरा लाजमी था हर बार मनाने की
आदत जो हमने डाली थी
💠

कुछ लेकर मेरा ख्याल कभी नहीं बदलेगा
साल तो बहुत बदलेंगे पर
मेरा प्यार कभी नहीं बदलेगा

Gulzar quotes
0 0 votes
Article Rating
0 0 votes
Article Rating

Leave a Reply

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x
%d bloggers like this: