interesting fact of mind | दिमाग की रोचक जानकारियां

मनुष्य का दिमाग कितना परसेंट काम करता है             

मनुष्य का दिमाग लगभग 10 % भी अच्छा से काम नही करता है, जिस दिन मनुष्य का  दिमाग 10 %प्रतिशत भी अच्छे से काम करने लगेगा उस दिन से वो लोग भूखे नही मरेंगे, जिस तरह से आज के लोग भीख माँग करके खाते है। और कहीं भी दम तोड़ देते हैं 
  • हमारा दिमाग 75 प्रतिशत से ज्यादा पानी से बना होता है।
  • इंसान का दिमाग 5 साल की उम्र तक 95 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। और 18 की उम्र तक आते आते 100 प्रतिशत विकसित हो चुका होता है। 

मनुष्य के दिमाग का वजन कितना होता है

मनुष्य का दिमाग का वजन लघभग 1200 से 1400 ग्राम तक का होता है। लेकिन कुछ लोगों के पास दिमाग रद्दी भर का नही होता है। 
  • सर्जरी से हमारा आधा दिमाग़ हटाया जा सकता हैं और इससे हमारी यादों पर कुछ भी प्रभाव नही पड़ता है। 
  • इंसान जब जाग रहा होता है तब उसका दिमाग 10 से 23 वाट तक की बिजली उर्जा छोड़ती है जो कि एक बिजली के बल्ब को आसानी से जला सकती है। 
  • आप अपने दिमाग में न्युरॉनज़ की गिणती दिमागी क्रियाएँ करके बढ़ा सकते हैं क्योंकि शरीर के जिस भी भाग की हम ज्यादा उपयोग करते है वह और विकसित होता जाता है।
  • पढ़ने और बोलने से बच्चों का दिमाग का विकास ज्यादा होता है।
  • जब इंसान एक आदमी का चेहरा गौर से देखते है तो इंसान दिमाग का दायां भाग का इस्तेमाल करता है। 
  • हमारे शरीर के विभिन्न हिस्सों से सुचना विभिन्न रफतार से और विभिन्न न्युरॉन के द्वारा हमारे दिमाग तक पहुँचाती है। सारे न्युरॅान एक जैसे नही होते कई ऐसे न्युरॅान भी होते है जो सुचना को 0.5 मीटर प्रति सैकेंड की रफतार से दिमाग तक पहुँचाती है और कुछ  की रफतार से दिमाग तक पहुँचाती है।
  • 10. आपके दिमाग की दायीं तरफ आपके शरीर के बायीं तरफ को जबकि दिमाग की बायीं तरफ आपके शरीर के दायीं तरफ को कंट्रोल करती है।
  • जो बच्चे पाँच साल का होने से पहले दो भाषाएँ सीख लेते है उनके दिमाग की संरचना थोड़ी सी बदल जाती है।
  • इंसान के दिमाग में हर दिन औसतन 60,000 तक विचार आते हैं।

Dimag ke kuch interesting facts

  • अकसर ऐसा कहा जाता है कि हम दिन में 20,000 बार  झपकते है और इसके कारण हम दिन में 30 मिनट तक अंन्धे रहते हैं। पर असल में हम दिन में 20,000 बार पलक जरूर झपकते है पर 30 मिनट तक अन्धे नही रहते। क्योंकि हमारा दिमाग इतने कम समय में वस्तु का चित्र अपने आप बनाए रखता है। हमारे पलक झपकने का समय 1 सैकेंड के 16वे हिस्से से कम होता है पर दिमाग किसी भी वस्तु का चित्र सैकेंड के 16वे तक बनाए रखता है।
  • हँसते समय इंसान के दिमाग के लगभग 5 हिस्से एक साथ कार्य करती है।
  • दिमाग का आकार और वजन दिमागी शक्ती पर कोई प्रभाव नही डालता। अल्बर्ट आइंस्टाइन के दिमाग का वजन 1230 ग्राम था जो कि सामान्य मनुष्य से कहीं कम था।
  • एक जिंदा दिमाग बहुत नर्म होता है और इसे चाकु से बड़े आसानी से काटा जा सकता है।
  • दिमाग में 1,00,000 मील लंबी रक्त वाहिकाएँ होती हैं। जिसके द्वारा खून का परिवहन होता है। 
  • दिमाग को 4 से 6 मिनट तक ऑक्सीजन न मिलने पर भी यह रह सकता है पर 5 मे 10 मिनट तक न मिलने पर ब्रेन को भारी नुक़सान हो सकता है। 
  • मनुष्य का दिमाग का वजन लगभग 1500 ग्राम तक हो सकता है। 
  • 20. हमारे दिमाग में न्युरॅान की गिणती 100 अरब ( जितने आकाशगंगा में तारे होते है) होते हैं और हर न्युरॅान में 1,000 से 10,000 सारांश (synopses) होते है।
  • वैज्ञानिक मानते हैं कि ब्रह्माण्ड में सबसे जटिल और रहस्यमय चीज मनुष्य का दिमाग ही है।
  • मानव दिमाग के अंदर एक सैकेंड में 1 लाख तक रसायनिक प्रतिक्रियायें होती हैं।
  • मस्तिष्क में प्रत्येक वस्तु या सूचना संग्रहित होती रहती है – तकनीकी रूप से मस्तिष्क के पास अनुभव, अवलोकन, पठन, श्रवण आदि प्रत्येक वस्तु और सूचना को संग्रह करने की क्षमता होती है। यह अलग बात है कि मनुष्य में अपने ही मस्तिष्क में सग्रहित किसी अनेक वस्तुओं (सूचनाओं) तक वापस पहुँचने यानी कि अनेक घटनाओं को स्मरण रख पाने की क्षमता नहीं होती है। 
  • दिमाग शरीर का लगभग 2% है परन्तु यह कुल ऑक्सीजन का 20% खपत करता है और खून भी 20% उपयोग करता हैं।
  • जब मनुष्य दो साल का होता है तो उसके दिमाग में किसी और समय के इलावा ब्रेन सेल की गिणती सबसे ज्यादा होती है।
  • एक रिसर्च से पता चला है कि पुरूषों और महिलाओं के दिमाग की बनावट अलग-अलग होती है।
  • मनुष्य दिन की अपेक्षा रात को ज्यादा बढ़ते हैं। यह दिमाग के एक छोटे से भाग पिट्यूटरी एक ग्रंथी होती है जिसके कारण होती है जो रात को सोते समय एक बढ़ने वाली हारमोन छोड़ती है।
  • वज़न के लिहाज से अब तक सबसे भारी दिमाग एक रूसी लेखक ‘इवान टर्गेन्यू turgenew का था। उसके दिमाग का वजन लगभग 2.5 किलो था और उसकी मृत्यु 1883 में हुई।
  • हमारा दिमाग़ 40 साल की उम्र तक बढ़ता रहता हैं। इसके के बाद यह सुकड़ने लगता है।
  • अगर शरीर के आकार को ध्यान में रखा जाए तो मनुष्य का दिमाग सभी प्रणीयों से बड़ा हैं। हाथी के दिमाग का आकार उसके शरीर के मुकाबले सिर्फ 0.15 प्रतिशत होती है जबकि मनुष्य का 2 प्रतीत होता है ।
  • मानव का दिमाग कंप्यूटर से भी ज्यादा तेज प्रतिक्रिया करता है।
  • मनुष्य के दिमाग की लेफ्ट साइड बोलने को कंट्रोल करती है और पंक्षियों के दिमाग की लेफ्ट साइड उनकी चहचहाना कंट्रोल करती है।
  • दिमाग शराब पीने के लगभग 7 – 8 मिनट के अंदर ही active हो जाता है और हमे नशा होने लगता है।
  • ब्रेन (दिमाग) और माइंड (मन) दो अलग अलग चीजे होती है। मन दिमाग के किस भाग मे है इसका पता विज्ञान अभी तक नहीं लगा पाया है।
  • अगर दिमाग से amygdala (प्रमस्तिष्कखंड भाग ) निकाल दिया जाए तो इंसान का किसी भी चीज से हमेशा के लिए डर खत्म हो जाएगा।

  • दिमाग की 10 प्रतीशत प्रयोग करने वाली बात भी सच नही हैं बल्कि दिमाग के सभी हिस्सों का अलग-अलग काम होता हैं।
  • एक दिन में हमारे दिमाग़ में 60,000 विचार आते हैं और इनमें से 70% विचार Negative (नकारात्मक) होते हैं।

  • जब हमे कोई इगनोर या रिजेक्ट करता हैं तो हमारे दिमाग को बिल्कुल वैसा ही महसूस होता हैं जैसा चोट लगने पर।
  • जिस घर में ज्यादा लड़ाई होती हैं उस घर के बच्चों के दिमाग पर बिल्कुल वैसा ही असर पड़ता हैं जैसा युद्ध का सैनिकों पर।
  • टी.वी. देखने की प्रक्रिया में दिमाग़ बहुत कम इस्तेमाल होता है और इसलिए इससे बच्चों का दिमाग़ जल्दी विकसित नहीं होता। बच्चों का दिमाग़ कहानियां पढ़ने से और सुनने से ज्यादा विकसित होता है क्योंकि किताबों को पढ़ने से बच्चे ज्यादा कल्पना करते हैं।
  • कुछ ना कुछ सीखते रहने से दिमाग में नई झुर्रियां विकसित होती रहती हैं और यह झुरिया ही IQ का सही पैमाना होता है।
  • अगर आप अपने स्मार्टफ़ोन पर लंबे समय तक फालतु काम करते हैं तब आपके दिमाग़ में ट्यूमर होने का खतरा बड़ जाता हैं
Advertisement
0 0 votes
Article Rating
0 0 votes
Article Rating

Leave a Reply

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments