एक ऐसा बच्चा जिसका बाप ने अपनी आर्थिक स्थिति खराब होने की वजह से अपने बेटे को अपने भाई को सौंप दिया, जो आगे चलकर वो बच्चा फिल्म इंडस्ट्री का सबसे बड़ा सुपरस्टार बना।

प्यार से लोग काका कहकर बहु पुकारते हैं लेकिन नाम है, हर कोई बस यही बोलता है कि ऊपर आका तो नीचे काका। भारतीय सिनेमा के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना जी को माना जाता है।

मार्च 1973 में राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) ने डिंपल कपाड़िया के साथ शादी की थी। और उसी समय ऋषि कपूर के साथ बॉबी फिल्म की शूटिंग हो रही थी और वह फिल्म अभी पूरी शूटिंग नहीं हुई थी।

भारत विभाजन के बाद सब छोड़ छाड़ के वे भारत आ गए। और यहां पर अमृतसर में बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा, क्योंकि आर्थिक स्थिति उस वक्त इनकी बहुत खराब थी।

पाकिस्तान में स्थित है। राजेश खन्ना के पिता जी के बुरेवाला में एक खानदानी हवेली भी है, जिसका नाम था खन्ना हवेली, इसी आंगन में राजेश खन्ना का बचपन गुजरा और उस आंगन में राजेश खन्ना जी बहुत क्रिकेट खेलते थे।

राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) जब 6 साल के हुए थे तब भारत और पाकिस्तान का बंटवारा शुरू हो गया था, उसके बाद राजेश खन्ना के पिता जी भारत को चुनाव किया और वह वेस्ट पंजाब अमृतसर के गली तिवारियन में आकर बस गए,

राजेश खन्ना ने ऐसा परफॉर्मेंस दिया कि 10000 की भीड़ से निकल कर सीधा टॉप 10 में पहुंच गए राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) और वहां 8 लोगों को ऐसी टक्कर दी टॉप पर यानी नंबर वन पर पहुंच गए

राजेश खन्ना और उन्होंने यह कांटेस्ट जीत लिया। लड़कियों में फरीदा जलाल ने कांटेक्ट जीता था और रनर अप रहे थे विनोद मेहरा और लीना चंदावरकर, प्राइज के तौर पर दो फिल्में ऑफर की गई। जी.पी. सीपी और नासिर हुसैन बने इनकी लाइफ के पहले प्रड्यूसर